Varsha Ritu Nibandh – Varsha Ritu Ke Labh hindi me

Varsha Ritu Nibandh : आप सभी का स्वागत है हमारी वेबसाइट Moral Hindi Story पर. और हम श करते है की आज हम आपके लिए Varsha Ritu Nibandh लिखा है जो आपको पसंद आएगा.

– Vigyan Ke Chamatkar Hindi Nibandh

Children Day Nibandh

 

Varsha Ritu Nibandh

 

पृथ्वी पर कई ऋतु है. जो कि महत्वपूर्ण है. पर मेरा प्रिय ऋतु है वर्षा ऋतु. वर्षा ऋतु ग्रीष्म ऋतु के बाद आती है. किसान आतुर होकर इस ऋतु का इंतजार करता है. वर्षा ऋतु से खेती के लिए पानी मिलता है. नदी या तालाब बारिश के पानी से भर जाते हैं. हमारी तरह ही पशु पक्षी और पेड़-पौधों का जीवन भी वर्षा ऋतु पर निर्भर रहता है. जून के पहले हफ्ते में यह ऋतु शुरू होती है. दुख से तपे धरती पर अचानक से ठंडक फैल जाती है.

payavaran Par Nibandh

पहली बारिश में मिट्टी की खुशबू लेने का अनुभव बहुत सुहाना होता है. कुछ दिनों में ही धरती पर हरियाली छा जाती है. बच्चे बारिश के पानी में बहुत खेलते हैं. और पानी में नाव छोड़कर बारिश का आनंद लेते हैं. बहुत लोग इस ऋतु में समुद्र की लहरें देखने समुद्र किनारे जाते हैं. सात रंगों वाला इंद्रधनुष भी इसी ऋतु में देख पाते हैं. वर्षा ऋतु में मौसम बड़ा सुहावना होता है. इसी वजह से मुझे यह रितु बहुत पसंद है.

भारत की सभी ऋतु में वर्षा ऋतु एक अनुपम ऋतु है. संसार के बड़े-बड़े कवियों ने वर्षा ऋतु की काफी प्रशंसा की है. इस पर अच्छी-अच्छी और मार्मिक कविताएं भी लिखी गई है. यह रितु संसार को जीवन देती है. प्यासे को पानी देती है और मां की तरह जीव मात्र का पालन पोषण भी करती है. भारत में गर्मी के ठीक बाद वर्षा ऋतु का आगमन होता है. इसके प्रभाव में प्रकृति लहलहा उठती है. यह सूखे पौधों और पतियों में प्राण फूंक देती है. चारों ओर हरियाली छा जाती है. भिन्न-भिन्न प्रकार के पक्षी अपनी मधुर ध्वनि वन और उपवनो की शोभा बढ़ाते हैं.

 

वर्षाऋतु Ke Labh

 

तालाब के किनारे मेंढक टर टर करने लगते हैं. दुबली पतली लताए बढ़कर फैलने लगती है. और पुरुषों से लिपटने लगती है. घने जंगलों में रहने वाले मोर नाच उठते हैं. सारी प्रकृति नया रूप धारण कर नया जीवन का स्वागत करती है. सूखी नदियां किनारों को तोड़फोड़ आगे बढ़ती है. और कभी-कभी किनारों के पेड़ों पौधों को उखाड़ पछाड़कर धराशाई कर देती है.

Pradushan Par Nibandh

इस ऋतु में ऐसा लगता है जैसे किसी सच सचमुच धरती पर ही चादर बिछा दी है. खेत खलियान, बाग बगीचे, ताल तलैया, आहार पोखर सभी भरे पूरे हो उठते हैं. वर्षा के स्वागत में औरतें इंद्र भगवान की पूजा करती है. कदम की डाल पर झूले लगाकर जुलती है. तथा गजनी लावणी और हिंडोला गाती है. आकाश काले मेघों से भर जाता है. कभी-कभी बादलों को चीर कर बिजली चमकती है. और कभी बादल गरजते हैं.

पानी की बून्द जब छोटे-बड़े चीजों पर गिरती है तब ऐसा लगता है मानो मोती सर रहे हो. हवा में शीतलता और मस्ती रहती है. गांव के किसान झूम उठते हैं. उनके सूखे होठों पर मुस्कुराहट दौड़ पड़ती है. इस प्रकार वर्षा ऋतु मनुष्य और प्रकृति को नए सांचे में डाल देती है. कड़कड़ाती गर्मी के बाद जून और जुलाई के महीने में वर्षा ऋतु का आगमन होता है, और लोगों को गर्मी से काफी राहत मिलती है. वर्षा ऋतु एक बहुत ही सुहानी ऋतु है. वर्षा ऋतु आते ही खासकर की किसानों में खुशियों का संसार हो जाता है.

Svachata Par Nibandh

वर्षा ऋतु सिर्फ गर्मी से ही राहत नहीं देता, बल्कि यह खेती के लिए वरदान है. बहुत सारी फसल अच्छी वर्षा पर निर्भर करती है. अगर अच्छी वर्षा नहीं हुई तो ज्यादा उपज नहीं हो पाएगा. जिससे लोगों को सस्ते में अनाज नहीं मिल पाएगा. वर्षा ऋतु भारत में बहुत सारी जगह पर पानी की किल्लत को दूर करता है. बहुत सारे लोग और ऐसी जगह है जो पानी की कमी से जूझते हैं. वर्षा होने से तालाब में नहरों में पानी भर जाता है और लोगों को खुलकर पानी का इस्तेमाल करने का मौका मिलता है. बारिश होते ही चारों तरफ हरियाली छा जाती है. पेड़ पौधे तेजी से बढ़ते हैं और वातावरण खुशनुमा हो जाता है. ज्यादा बारिश सिर्फ खुशियां ही नहीं लाता बल्कि कभी-कभी जलने का कारण भी बनता है.

कई जगह बहुत ज्यादा बारिश होने की वजह से गांव के गांव डूब जाते हैं और जनधन की हानि होती है. बहुत ज्यादा बारिश होने के कारण बहुत खेत डूब जाते हैं और उसमें लगी फसल भी नष्ट हो जाती है. तेज आंधी तूफान में बहुत सारे घर गिर जाते हैं और बहुत से जान-माल को नुकसान पहुंचता है. तेज बारिश के कारण यातायात में असुविधा का सामना करना पड़ता है. बारिश के ऋतु में रोगों के संक्रमण की संभावना अधिक हो जाती है और लोग अधिक बीमार पड़ने लगते हैं. इसलिए लोगों को इस ऋतु में सावधानी से रहना चाहिए और बारिश का मजा लेना चाहिए और जहां तक हो सके बारिश के पानी को संचित कर के उपाय ढूंढने चाहिए.

अगर आप को हमारा यह आर्टिकल Varsha Ritu Nibandh अच्छा लगे तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बह बता सकते है और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *