Short Motivational Story in Hindi Language For Student With Moral Value

Short Motivational Story In Hindi : आप सभी का स्वागत है हमारी वेबसाइट Moral Hindi Story पर. आज हम एक नई कहानी के साथ फिर से हाजिर है. आज हम Short Motivational Story In Hindi  के बारे में बताने जा रहे हैं. हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी स्टोरी पसंद आती होगी अगर आप को हमारी Story पसंद आती है तो जरूर से कमेंट करके बताइए.

 

Short Motivational Story In Hindi

 

एक बार एक आदमी किसी राजा के दरबार में पहुंचा. और उसने कहा -“महाराज मेरे पास दो रत्ना है. जिनमें से एक बेशकीमती हीरा और दूसरा साधारण कांच का टुकड़ा है. यदि आप के दरबार में किसी ने यह बता दिया कि कौन सा कांच है? और कौन सा सच्चा हिरा है? तो मैं यह हीरा आप के खजाने में दे दूंगा। अन्यथा आपको 5000 स्वर्ण मुद्राएं मुझे देनी होगी.” राजा को यह चुनौती पसंद आई. दरबारियों को हीरे और कांच में फर्क करने का आदेश दिया.

Hindi Story For class 7

बड़े से बड़ा सूज बूज वाला दरबारी आया, लेकिन कोई भी हीरे की परख नहीं कर पाया. अंत में राजा ने हार मान ली और उसे 5000 स्वर्ण मुद्राएं दी. अब वह आदमी दूसरे राज्य पहुंचा और वहां भी उसने यही शर्त रखी. लेकिन वहां भी कोई फर्क नहीं कर सका तो शर्त के मुताबिक राजा को 5000 स्वर्ण मुद्राएं देनी पड़ी. इसी प्रकार वह आदमी कई राज्यों का भ्रमण करता और अपनी शर्त रखता और हर बार वह आदमी स्वर्ण मुद्राएं जीतकर आगे बढ़ जाता.

उस समय ठंड का समय था तो राजा ने अपना दरबार खुले मैदान में लगाया हुआ था, ताकि दरबारी धूप का आनंद ले सके और बाकी सब काम निपटा सके. वह आदमी दरबार में पहुंचा और अपनी शर्त दोहराई. यहां भी राजा ने अपनी चुनौती स्वीकार कर ली. राजा ने विद्वानों को भी असली और नकली हीरे में फर्क करने का आदेश दिया, लेकिन यहां भी कोई फर्क नहीं कर सका. राजा बहुत उदास हो गए और खजांची को 5000 स्वर्ण मुद्राएं खजाने से लाकर देने के लिए बोला.

तभी एक दरबारी जन्म से अंधा था. उसने कहा महाराज खजांची को भेजने से पहले क्या मैं एक बार हीरो को रख सकता हूं. तभी राजा ने उसको वही पर रखने की अनुमति दे दी. तभी उस अंधे आदमी ने दोनों हीरे अपने हाथ में लिया और बारी-बारी से उन हीरो को छूकर परखने लगा. तभी उस हीरो को छूकर उसने इशारा किया कि महाराज यह है सच्चा हीरा। और दूसरा वाला साधारण कांच का टुकड़ा है जिसका कोई मोल नहीं है. हीरे वाले आदमी की आंखें चमक उठी और उसने बोला कि बिल्कुल सही कहा आपने. लेकिन आपने इसे पहचाना कैसे?

उस अंधे आदमी ने जो जवाब दिया उसे सुनकर वहां राजा सहित सभी की आंखें खुली की खुली रह गई. वह बोला -“जो भी सच्चा हीरा होता है वह धूप में भी ठंडा रहता है. जबकि साधारण काच थोड़ी सी गर्मी मिलते ही गर्म होता है. बिल्कुल हम इंसानों की तरह. यदि हम बड़ी सफलता मिलने पर दिमाग से शांत रहते हैं तो हम उच्च कोटि के इंसान होते हैं, और यदि हमारा दिमाग थोड़ी सी सफलता मिलते ही सात में आसमान पर उड़ने लगे तो यह समझने की जरूरत है कि क्या हम वह सस्ते साधारण कांच की तरह तो नहीं. इसलिए हमें सफलता मिल भी जाए तो हमें ऊंचे आसमान तक उड़ना नहीं चाहिए हमें हीरे की तरह रहना चाहिए जो कि धूप में भी ठंडा रहता है.

अगर आपको हमारी यह Short Motivational Story In Hindi पसंद आये तो आप हमें कमेंट करके भी बता सकते है जिससे हमें और कई नयी Inspirational Story लिखने के लिए मदद मिलेगी. यह Hindi Story पूरी पढ़ने के लिए आप सबका खूब खूब धन्यवाद.

Akbar Birbal Ki Kahani Hindi

Budhha Ki Kahani Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *