Mobile phone Work Kaise karta hai? मोबाईल फोन कैसे काम करता है?

Mobile Phone Work Kaise Karta Hai : Mobile Phone हम सब लोग चलाते है. हमें जब भी किसीको Call करना है तब सिंपल से हम लोग Mobile Phone निकाल कर नंबर प्रेस करते है और Call की Button को दबाते है तो कॉल जिसको भी लगाया है उसको चला जाता है.

पर क्या आपने सोचा है कभी की ये Mobile Phone Work Kaise Karta hai. और हम जो बाते  करते है वोह हवा में कैसे एक दूसरे के पास पहोच जाती है.

 

Mobile phone Work

विश्वमें टेक्नोलॉजी बहुत ही आगे बढ़ गई है. सबसे पहले हम टेलीफोन का इस्तेमाल किया करते थे. यानी की जब भी हम किसीको कॉल करते थे तो उस समय टेलीफोन के साथ जुडी हुई लाइन एक जगह से दूसरी जगह हमारी आवाज पहोचा देती थी.

आज के समय में हमारे पास Mobile Phone अवेलेबल हो चुके है जिससे बिगर कोई लाइन से हमारे आवाज एक जगह से दूसरे जगह पहोच जाती है. तो यहाँ पे ये सब कुछ वर्क करवानेके लिए हमें चाहिए था कोई सिग्नल सिस्टम पर क्या ये इतनी तेजी से हमारी आवाज जिसको कॉल करते ही उस तक पहोचा पायेगी. हम किसीको कॉल करते है तो क्या वो दूसरे सिटी में आसानी से पहोचा पायेगी. तो हमारा सिग्नल सिस्टम ये सब काम नहीं कर पाएंगे.

यहाँ पे हम इस्तेमाल करते है टावर का. Mobile Tower ही यही चीज करके देता है. Mobile Tower के जरिये हम अपनी आवाज एक जगह से दूसरी जगह आसानी से पहोचा सकते है. हम जबभी में किसीको कॉल करते है तो हमारे फोन के अंदर एक Micro Phone होता है. जिसमे में जो-जो चीज बोलते जा रहे है वोह उसको Digital फॉर्म में Convert कर देता है. Convert हुई आवाज को हमारे Smart Phone में लगा हुवा ऐंटेना उसको Electromagnetic Wave में convert करता है.  अगर ये Electromagnetic Wave नहीं बनते है तो यह टावर तक ये सिग्नल नहीं पहोच पाते है.

इससे क्या हुवा की आवाज को Digital फॉर्म से कन्वर्ट होके Electromagnetic फॉर्म में कन्वर्ट होकर Mobile Tower तक पहोच गई. इससे टावर हमने जिसको call किया है उसको सिग्नल भेजेगा. उसको Electromagnetic Wave से और Mobile Signal उसको कन्वर्ट करेगा Digital फॉर्म में कन्वर्ट करेगा. इससे उसके पास हमारी आवाज पहोच जाएगी. यहाँ पर हमारे मोबइल से दूसरे मोबाईल तक आवाज पहोचाने के लिए हमें Tower की मदद लेनी पड़ी. पर आपको पता है की अब यह Tower को कैसे पता चलता है की हमने जिसको call किया है. वोह किस एरिया में है. तो चलो उसको भी थोड़ा जान लेते है की Tower किस तरह से काम करते है और Data पहुचाते है.

Tower कैसे Signal पहुंचाता है (Tower Kaise Signal Pahochata hai?)

Tower के पास वोह डेटा नहीं है की वो जांच कर सके की किसका कॉल आया और किसको पहोचाना है. हमारे हर एरिया में अलग अलग टावर लगे होते है. जिसमे टावर की रेडियस होती है वोह वहा तक Signal पहोचा सकता है. ऐसे में हमारे देश में काफी सारे टावर है. जिससे कितने भी सारे सिग्नल होंगे. यह सब सिग्नल आते है उसे हम कहेगे बेस (बेस ट्रांस रिसीवर स्टेशन) स्टेशन. यह ये काम करता है की वो मेरे Signal लेगा और मुझे सिंग्नल वापिस देगा. अब जब भी कोई सिग्नल लेगा तब ये टावर सीधा ही कनेक्ट होता है MSC से यानि की Mobile Switching Center. आपके एरिया में जितने भी टावर है इसमें एक एक सिटी के मुताबिक एक एक Mobile Switching Center होता है जिसमे आपकी सारी इंफोर्मेशन रहती है.

Also Read : QR Code Kya Hai

अब टावर का काम यह होता है की आपकी सारी Information MSC तक पहुंचाती है. अब यह इंफोरमेशन जब Mobile Switching Center तक पहुंचाती है तो उसका काम यह होता है की आपने जिसको कॉल किया है उसको यह इन्फॉर्मेशन पहुचाये. अब यह Switching Center आपने जह भी कॉल किया उस तक यह इनफार्मेशन पहुचायेगा और वोह टावर तक पहुचायेगा.

इस Switching Center के पास वोह सारी Information रहती है की आप कोनसा Mobile Phone यूज करते हो आपके मोबाइल का IMEI नंबर क्या है. क्या आईडी प्रूफ आपने दिया हुवा है. क्या लोकेशन है आपका. इस तरह की सभी जानकारी उसके पास होती है. यह सब जानकारी Switching Center के पास होती है. यह सब डेटा दूसरे Switching Center तक पहोचता है.

जब भी आप किसीको कॉल करते हो तब 2 या 3 सेकण्ड का समय लगता है. वोह सब समय डेटा ट्रांसफर के लिए लगता है. इसी तरीके से सब आसानी से कॉल कर पाते है और आसानी से बात कर पाते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *